तमिलनाडु

सुप्रीम कोर्ट के फैसले को मानने को तैयार नहीं साबरीमाला मंदिर ट्रस्ट

सुप्रीम कोर्ट के फैसले को आखिर क्यों मानने को तैयार नहीं साबरीमाला मंदिर ट्रस्ट खास बातें साबरीमाला मंदिर में चढाई करने वाली महिला रेहाना के घर तोडफोड। साबरीमाला मंदिर ट्रस्ट न करता है  माननीय सुप्रीम कोर्ट के फैसले का पालन। साबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रदेश पर है क्यों रोक। केरल:सुप्रीम कोर्ट ने साबरीमाला मंदिर में महिलाओं को प्रवेश करने हेतु फैसला सुनाया।जब से अब तक साबरीमाला मंदिर में महिलाओं की प्रवेश की लगातार कोशिश के बावजूद  कोई महिला प्रवेश नहीं कर पाई हैं।जिसने मंदिर में प्रवेश करने की कोशिश की। उन सभी महिलाओं को मंदिर के पुजारियो व प्रर्दशनकारियों ने दौरा दौरा कर भगाया/दौडाया है और उनके घर में तोडफोड की। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद महिलाओं मंदिर में प्रवेश नहीं कर पा रहा हैं।गुरूवार को भारी सुरक्षा के बीच हेलवेट पहनकर सामाजिक कार्यकर्ता रेहाना फातिमा एक महिला पत्रकार को स...