देश

राफेल विमान डील:फ्रांस को भारत ने आखिर किया 50% से अधिक भुगतान

राफेल विमान डील पर संसद से  सड़क पर पहुंचा विपक्ष का हंगामा। जबकि भारत सरकार ने 36 राफेल लड़ाकू जेट की कुल कीमत में अब तक 50% से अधिक भुगतान कर चुकी हैं यानि 34,000 करोड़ की रकम का हुआ अब तक भुगतान।  देश में राफेल डील को लेकर जिस तरह इस स्थिति बनती दिख रही है। उससे ऐसा महसूस किया जा रहा है कि अब राफेल डील अब विपक्ष किसी कीमत पर चुप बैठने वाला नहीं है। यानी अब राफेल डील को लेकर विपक्षियों ने संसद से लेकर सड़क तक एनडीए की मोदी सरकार को घेरने का पूरा प्लान बना लिया है। राफेल जेट विमानों की खरीद को लेकर  चल रहे घमासान के बीच सभी  विपक्षियों ने संसद लेकर बाहर भी घमासान शुरू कर दिया है  इसी बीच सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि भारत ने 36 राफेल फाइटर विमानों की खरीद के लिए अब तक कुल कीमत 59,000 करोड़ रुपये में से आधे से 56% से अधिक भुगतान कर दिया है।भारत सरकार ने कुल मिला कर अब तक 34000 करोड़ ...

मोदी के खिलाफ पश्चिम बंगाल में महागठबंधन का बड़ा ऐलान। दादरी नगर हवेली से पीएम मोदी ने महा गठबंधन पर किया हमला

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में महा संगठन की यूनाइटेड इंडिया रैली भाजपा की मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने का ऐलान 2019 लोकसभा चुनाव से पहले देश में जिस तरह भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार के खिलाफ महागठबंधन का आगाज बनता दिख रहा है। एक बात तो साफ जाहिर हो रही है। सभी विपक्षी दल महा गठबंधन बना कर मौजूदा भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार को संकट में डाल सकते हैं क्योंकि जैसे जैसे देश के अलग-अलग राज्यों में महागठबंधन की शुद बुद हट महसूस हो रही है। वैसे वैसे भारतीय जनता पार्टी की खिसियाहट स्पष्ट देखने को मिल रही है। अभी हाल ही में 12 जनवरी 2019 को  लखनऊ के ताज होटल में समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 38-38 सीटों पर गठबंधन करने का ऐलान किया।जिसको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  पूरी तरह ठग बंधन बताया। उत्तर प...

पीएमओ में तैनात ओएसडी ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को कहा ‘कम बुद्धि’ और रेलवे बोर्ड के सदस्यों को ‘अंधा

 पीएमओ में तैनात ओएसडी ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को कहा ‘कम बुद्धि’ और रेलवे बोर्ड के सदस्यों को ‘अंधा रेलवे बोर्ड के सचिव ने 2 जनवरी 2019 को प्रधानमंत्री कार्यालय में तैनात एक ओएसडी यानी ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी से मुक्त कर रेलवे में भेजने की मांग की है। इस ओएसडी पर सरकारी शिष्टाचार के उल्लंघन और दुर्व्यवहार का आरोप लगाया है।कार्मिक विभाग को भेजे गए सरकारी पत्रचार में कहा गया है कि:“भारतीय रेल कार्मिक सेवा के अधिकारी हैंसंजीव कुमार के आचरण में सरकारी शिष्टाचार और दुर्व्यवहार का मामला रेलवे बोर्ड के संज्ञान में लाया गया है। संजीव कुमार ने रेल समाचार डॉट कॉम में एक लेख लिखा है, जो कि सभ्य नहीं है। इस लेख में सचिव स्तर तक के वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों की काबिलियत पर सवाल उठाया गया है। साथ ही इस लेख के जरिए रेल मंत्री (पीयूष गोयल) पर भी आरोप लगाया गया है…” रेलवे बोर्ड के सचिव ने कार्मिक विभा...

2019 के लोकसभा चुनाव से पहले क्यों देना चाहते हैं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता इस्तीफा

2019 के लोकसभा चुनाव से पहले क्यों देना चाहते हैं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता इस्तीफा क्या वाकई काग्रेस के वरिष्ठ न नेता अजय माकन ने अपने  अस्वास्थ्य चलते से अपने पद से इस्तीफा दिया नई दिल्लीःकांग्रेस के दिग्गज नेता अजय माकन ने गुरुवार को पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। सूत्रों ने कहा है कि माकन ने गुरुवार शाम को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की और अपना इस्तीफा सौंप दिया। वरिष्ठ कांग्रेस नेता अजय माकन ने पूर्व सितंबर 2018 में  अपने  अस्वास्थ्य के चलते इस्तीफा देने की पेशकश की। लेकिन कांग्रेस आलाकमान द्वारा उनके इस्तीफे को स्वीकार न करते हुए आगे कार्य करने का आग्रह किया गया। वरिष्ठ नेता अजय माकन द्वारा फिर से   इस्तीफा देने की पेशकश की गई।तो कांग्रेस हाईकमान ने उनसे पूछा कि वास्तव में आप अगर काम करना चाहते हैं तो बताइए या या फिर अपनी जिम्मेदारी को निभाने में असमर्थ है। तो उन्हों...

भीमा कोरेगांव की 201बीं बरसी पर10000 पूर्वांचल सैनिक करेंगे बुद्धालैंड की मांग

बुद्धालैंड प्रदेश के लिए 1 जनवरी 2019 भीमा कोरेगाव की 201वी वर्षगाँठ पर पूर्वांचल सेना का विशाल पैदल मार्च बुद्धालैंड में आने वाले 27 जिलों के प्रतिनिधियो के साथ लगभग 10,000 समर्थक पैदल मार्च में रहेंगे उपस्थित उत्तर प्रदेश/गोरखपुर/बुद्धा लैंड बुद्धालैंड प्रदेश के 27 जिलों को अलग कर भारत मे 31वे राज्य बुद्धालैंड की स्थापना के लिए पूर्वांचल सेना द्वारा 1 जनवरी को विशाल पैदल मार्च होना सुनिश्चित है । वर्ष 2006 में गठित पूर्वांचल सेना द्वारा पूर्वी उत्तर प्रदेश के 27 जिलों को पूर्वांचल के नाम से अलग राज्य बनाने का आंदोलन शुरू किया गया था , वर्ष 2014 में पूर्वांच सेना की केंद्रीय कमेटी ने पूर्वी उत्तर प्रदेश में तथागत बुद्ध की थलियों की विशाल श्रृंखला और बुद्ध से जुड़े ऐतिहासिकता को देखते हुए उत्तर प्रदेश के पूर्वी हिस्से को पूर्वांचल के बजाए “बुद्धालैंड” के नाम से अलग राज्य बनाने क...

तीन तलाक बिल केन्द्र सरकार के लिए राज्यसभा में क्यों बनता जा रहा है चुनौती

तीन तलाक बिल एनडीए सरकार के लिए आखिर क्यों बनता जा रहा है चुनौती Triple Talaq  Bill in  Raj  Sabha तीन तलाक बिल पर आखिर विरोध क्यों राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन(NDA)  की सरकार के साढे 4 साल अपने बेमिसाल कार्यकाल के दौरान अपने किए गए वादों लेकर जनता के बीच में लगातार आक्रोष देखने को मिला। लेकिन सत्ता के भूखे विरोधियों ने कभी सरकार के  बेमिसाल कार्य को याद ना करके उनके द्वारा कराए गए सराहनीय काम को लगातार नजर अंदाज किया है। जैसे उत्तर प्रदेश में लगातार बिजली मिलना सरकार की बड़ी उपलब्धि है।   अगर तीन तलाक बिल की बात की जाए यह मुस्लिम समाज महिलाओं के लिए सुरक्षा का बेहतरीन कवच है।  बाद भी 100‰ सच है कि भारत में चलते, फिरते ,उठते बैठते ,फोन पर , किसी अन्य से बोलने पर, घर से बाहर , छोटे कपड़े पहनने पर निकलने पर सम्मानित मुस्लिम महिलाओं को तुरंत तलाक दे दिया जाता है। तीन तलाक का विरोध करने वा...

लोकसभा चुनाव 2019 से पहले देश के 4 राज्यों की जनता का मूड की

2019 लोकसभा चुनाव से पहले देश की जनता का मूड उत्तर प्रदेश लोकसभा देश का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश की लोकसभा कुल 80 सीटें हैं। लोकसभा 2014 का आंकड़ा देखा जाए। तो BJP ने  उत्तर प्रदेश लोकसभा की 80 में से 72 सीट जीतकर विरोधियों के मुंह बंद कर दिए। यानी पूरी तरह सपा बसपा कांग्रेस और अन्य पार्टियों का सफाई हो गया। इस बार प्रदेश की जनता का मूड कुछ और ही दिखाई दे रहा है। 2019 के लोकसभा चुनाव के एबीपी सर्वे के अनुसार उत्तर प्रदेश में एनडीए 72, जबकि यूपीए 6 सीटें मिल रही है। स्थानीय दलों का खाता भी नहीं खोल रहा है। अगर सपा बसपा उत्तर प्रदेश में गठबंधन बनाते हैं। NDA को 28 , गठबंधन को 50 और अन्य को 2 सीटें मिल सकती हैं। चुनावी विश्लेषकों का कहना है कि जनता अभी पूरी तरह भारतीय जनता पार्टी से नाराज नहीं है। अभी यूपी में कमल खिल सकता है। सपा बसपा का गठबंधन बनता है। NDA को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा. अ...

राफेल डील पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सुप्रीम कोर्ट ने क्यों दी क्लीन चिट।भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने राफेल डील पर प्रधानमंत्री के क्लीन चिट के बाद की प्रेस कॉन्फ्रेंस नई दिल्ली आज शुक्रवार दिसंबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट ने राफेल डील के मसले पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पूरी तरह बरी करते हुए कहा 26 राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद की प्रक्रिया में हस्तक्षेप करने का कोई कारण नजर नहीं आता है। इसी बात के साथ भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के बीच में खुशी की लहर। लेकिन शीर्ष अदालत के सामने भाजपा के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली और नरेंद्र सिंह तोमर ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाने पर लेते हुए कहा उन्होंने लगातार माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राफेल डील  में बदनाम करने की कोशिश की लिहाजा राहुल गांधी को इस मामले में देश व संसद  से माफी मांगना चाहिए। क्योंकि उन्होंने राइफल डील के मसले पर लगातार जनता को गुमराह करके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को धूमिल कि...

जीएसटी को सरकार को लागू करने की क्यों जरूरत पड़ी।जानिए विस्तार से

जीएसटी को सरकार को लागू करने की क्यों जरूरत पड़ी।जानिए विस्तार से GST : वस्तु एवं सेवा कर (goods and service tax)   खास बातें GST  क्या है। यह कैसे काम करती है GST को सरकार ने क्यों लागू किया। जीएसटी से व्यापारियों होने वाले लाभ और नुकसान जीएसटी से केंद्र सरकार को अब तक कितना राजस्व collection प्राप्त हुआ जीएसटी पर विपक्ष की राय जीएसटी का लंबा सफर   GST क्या और कैसे काम करती है जीएसटी: GOOD AND SERVICE TAX अगर सीधे शब्दों में कहें तो जीएसटी को वस्तु और सेवा कर कहते हैं। यानी मार्केट में बनने वाली वस्तु पर भी कर और उस पर  सेवा कर भी लगाया जाता है। जीएसटी भारत सरकार द्वारा आरंभ किया गया बेहतरीन टैक्स व्यवस्था है सरकार  ने मौजूदा कर प्रणाली व्यवस्था सशक्त और मजबूत  करने को जीएसटी को लागू किया। भारत सरकार ने अन्य प्रकार के छोटे करों को समाप्त कर कर करके जीएसटी के एकल कर व्यवस्था लागू...

सीएम योगी ने हनुमान को दलित क्यों कहा जानिए पूरी घटना का सच .

सीएम योगी ने हनुमान को दलित क्यों कहा जानिए पूरी घटना का सच . पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव दौरान तीन हफ्तों की लंबी यात्रा पर निकले यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ पांच राज्यों के स्टार प्रचारक के रूप में राजस्थान में जनसभा संबोधन करने पहुंचे।अलवर की मलपुरा में 28 नवंबर 2018 को संबोधन के   दौरान हनुमान को दलित कहना भारी पड़ा। सीएम योगी के हनुमान को दलित कहने सोशल मीडिया में जमकर ट्रेंड किया गया।  लोगों ने सोशल मीडिया के माध्यम से योएमगी की खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। मुंबई के ब्राह्मण महासभा ने सीएम योगी पर हनुमान को बांटने का आरोप लगाते हुए कानूनी नोटिस भेजा है। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के हनुमान को दलित बताने का असर सबसे ज्यादा यूपी के आगरा में देखने को मिला। जहां बहुजन समाज के लोगों ने प्रसिद्ध हनुमान मंदिर पर कब्जा करते हुए कहा की हनुमान दलित थी इसलिए यह मंदिर हमारा है मंदिर के पुजारी ने कहा क...

चेन्नई इंटेलिजेंस की बड़ी कार्रवाई। होटल में पकड़े 5 तस्कर। जानिए उनकी निशानदेही से क्या क्या बरामद हुआ

चेन्नई इंटेलिजेंस की बड़ी कार्रवाई। होटल में पकड़े 5 तस्कर। जानिए उनकी निशानदेही से क्या क्या बरामद हुआ चेन्नई से इंटेलिजेंस टीम ने पकड़ी बड़ी खेप Directorate of Revenue Intelligence seizes Rs 11 crore cash and 7 kg gold from a hotel in Mylapore, Chennai. Five people including two Korean nationals arrested pic.twitter.com/pWfTSJ4020 — ANI (@ANI) November 30, 2018 चेन्नई की इंटेलिजेंट टीम को देश से बाहर से आने वाली   सोने की बड़ी खेप आने की सूचना मिली। मुखबिर की सूचना पर पहुंची इंटेलिजेंस की टीम चेन्नई में तकरीबन 7:00 Mylapore होटल में छापा मारा होटल में छापा मारा। इंटेलीजेंट की टीम ने तस्करों की निशानदेही से ₹110000000 नगद और 7 किलो सोने के बिस्कुट बरामद किए हैं। गिरफ्तार 5 लोगों में से दो कोरिया के नागरिक बताए जाते हैं

EVM होने वाले नुकसान और फायदे।आम जनता से जुड़ी जानकारी का पूरा सच

EVM होने वाले नुकसान और फायदे।आम जनता से जुड़ी जानकारी का पूरा सच EVM मतलब इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन दुनिया में बढ़ती टेक्नोलॉजी के क्रेज के कारण। इंडिया भी दूसरों की तुलना में बेहतरीन टेक्नोलॉजी इजात करने में क्षमता रखता है। और हमारे देश की कार्य कुशल लोगों ने दुनिया में धूम मचा दी है। जैसे गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई और विश्व बैंक के पूर्व गवर्नर रंगराजन देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ अब्दुल कलाम आजाद जिन्हें मिसाइल मैन के नाम से लोग जानते हैं। भारत में केंद्रीय चुनाव आयोग ने 1998 प्रयोग के तौर पर मध्य प्रदेश राजस्थान और दिल्ली के विधानसभा चुनाव में  बेहतरीन टेक्नोलॉजी वाली ईवीएम का इस्तेमाल किया  गया। चुनाव आयोग की सोच यह थी कि चुनाव के बढ़ते बोझ से मुक्ति मिलेगी और कम खर्चे से मतदान के नतीजे भी जल्दी मिलेंगे। EVM मतलब इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन है जिसके माध्यम से लोकसभा और विधानसभा के चुनाव में ...