सेलिब्रिटी

हॉट एक्टर्स दीपिका पदुकोण सेलिब्रेट करने जा रहे हैं।अपना 33 वां जन्मदिन।जानिए खास बातें

हॉट एक्टर्स दीपिका पदुकोण सेलिब्रेट करने जा रहे हैं।अपना 33 वां जन्मदिन।जानिए खास बातें दीपिका पादुकोण बॉलीवुड की बेहतरीन अदाकारा दीपिका पादुकोण अपने सफल कैरियर का आज 33बांँ जन्मदिन सेलिब्रेट करने जा रही हैं। जहां उन्होंने फिल्मों की शूटिंग के दौरान अपना खूबसूरत दिल फिल्म स्टार रणधीर सिंह को दे बैठी। रणवीर सिंह से काफी दिन डेंटिंग करने के बाद 15 नवंबर 2018 को रणवीर सिंह के साथ शादी के बंधन में बनी। उनके जीवन का सबसे खूबसूरत और  बेमिसाल मौका का होगा। जो आज वह अपने पति रणधीर सिंह  के साथ अपना 33वां जन्मदिन सेलिब्रेट करने जा रही। सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि फेमस एक्टर्स दीपका पदुकोण अपने जन्मदिन के सेलिब्रेट के मौके पर कुछ ऐसा करने जा रही हैं। जो उनके  लाखों करोड़ों फैंस के लिए नई वर्ष का बेहतरीन तोहफा होगा। फेमस एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण का जन्म डेनमार्क में 1 जनवरी 1986 में हुआ था। जबकि उनके प...

प्रिया प्रकाश वरियर ने कुछ इस तरह सेलिब्रेट किया अपना बर्थडे,वीडियो वायरल

प्रिया प्रकाश वरियर ने सेलिब्रेट किया बर्थडे। वीडियो वायरल Priya Prakash Varier अपने एक वीडियो क्लिप से रातों-रात फेमस हुई प्रिया प्रकाश वारियर ने अपना बर्थडे आपने ममा-पापा वअपने दोस्त के साथ किया सेलिब्रेट किया बर्थडे। इस मौके पर उनके रिश्तेदार के अलावा सभी दोस्त मौजूद रहे। प्रिया प्रकाश वरियर ने अपना 19वें जन्मदिन  ओरू अदारलव के सितारे के साथ मनाया। बर्थडे सेलिब्रेट का एक बेहतरीन वीडियो वायरल सोशल मीडिया पर वायरल होने से दुनिया भर में धूम मची। प्रिया प्रकाश बैरियर की आंखों के इशारे से करोड़ों लोग फैन हो गए। उन्हें  इंटरनेट सनसनी  के नाम से जाने जाना लगा। प्रिया प्रकाश वैरियर की आंखों के इशारों में करोड़ों फलों का दिल जीत लिया। जब कभी भी कोई प्रिया प्रकाश से जुड़ी खबर वायरल होती है। तो उनके फैन्स इंटरनेट व सोशल मीडिया से लगातार जुड़े रहते हैं। जिससे उन से जुड़ी सारी बातें का अपग्रेड मालूम...

महान भारत रत्न डां भीम राव अंम्बेडकर पर बिशेष रिपोर्ट

भारत रत्न बोधशत डॉ. भीम राव अंम्बेडकर साहब आज ही के दिन 26 नवम्बर, 1949 को “भारतीय संविधान”बनकर तैयार हुआ था। भारतीय संविधान के स्मृतिकार बाबासाहेब डॉ.अंम्बेडकर को कहा जाता है क्योंकि इस संविधान के निर्माण में उन्होंने ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। पर हमें यह जानना भी आवश्यक है कि बाबासाहेब को संविधान सभा में प्रवेश करने के पूर्व किन-किन परिस्थितियों का सामना करना पड़ा जो उन्हें ऐसे उच्च शिखर तक ले गईं। सन् 1945 में जब द्वितीय विश्वयुद्ध समाप्त हुआ, उसके बाद भारत को सत्ता सौंपने का मसला खड़ा हो गया। 24 मार्च,1946 को ब्रिटिश प्रधानमंत्री लॉर्ड एटली ने ब्रिटिश मंत्रीमंडल के तीन सदस्य – लॉर्ड पेथिक लॉरेंस,सर स्टेफर्ड क्रिप्स और ए.बी.एलेग्जेंडर को भारत में राजनीतिक गतिरोध को रोकने व भारत को सत्ता सौंपने के उद्देश्य से भारत भेजा। इसे “कैबिनेट मिशन” कहा गया। मिशन ने भारत के तथाकथित प्रमुख नेताओ...