Meerat

यूपी के शामली में रेल हादसे की कवरेज करने गया पत्रकार को जीआरपी पुलिस ने जमकर पीटा और मुंह में पेशाब कर लॉकअप में बंद किया

यूपी के शामली में रेल हादसे की कवरेज करने गया पत्रकार को जीआरपी पुलिस ने जमकर पीटा और मुंह में पेशाब कर लॉकअप में बंद किया।पत्रकार संगठनों ने किया विरोध दर्ज शामली: उत्तर प्रदेश में जिस तरह कानून का राज होना चाहिए था। कानून को स्थापित करने में उत्तर प्रदेश की पुलिस पूरी तरह लाचार और असफल बनी हुई है। बेहद शर्म की बात तक महसूस होती है जब सरकार का चौथा स्तंभ कहे जाने वाले समस्त सम्मानित पत्रकार  बंधुओं खुलेआम पीटा जाता है उसके बाद बेहद शर्म की बात तब और महसूस होती है जब ऐसे संवेदनशील मामले में पुलिस कार्यवाही करने की जगह लीपापोती करती है। मैं सरकार से यह पूछना चाहता हूं कि क्या पत्रकार सरकार का चौथा स्तंभ केवल नाम के लिए है उसकी सुरक्षा की जिम्मेदारी आखिर किसकी है। केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार बताए कि पत्रकारों पर हो रहे निंदनीय हमला के लिए सरकार क्या ठोस कदम उठाने जा रही है। क्या सरकार पत्रक...