Bareilly

सफाई कर्मियों के हक आवाज बुलंद करने जा रहे हैं मिशन आशा गठबंधन के कार्यक्रम संयोजक कमल किशोर इंजीनियर। कार्यक्रम के बारे में विस्तार से बता रहे हैं वरिष्ठ पत्रकार सुशील बाबू सागर

सफाई कर्मियों के हक आवाज बुलंद करने जा रहे हैं मिशन आशा गठबंधन के कार्यक्रम संयोजक कमल किशोर इंजीनियर। कार्यक्रम के बारे में विस्तार से बता रहे हैं वरिष्ठ पत्रकार सुशील बाबू सागर
सफाई कर्मियों के हक आवाज बुलंद करने जा रहे हैं मिशन आशा गठबंधन के कार्यक्रम संयोजक कमल किशोर इंजीनियर। कार्यक्रम के बारे में विस्तार से बता रहे हैं वरिष्ठ पत्रकार सुशील बाबू सागर।

बरेली:भारत में सफाई के कार्य में लगें लोगो की जनसंख्या सबसे ज्यादा है, सफाई कार्य में आज सभी

जाति धर्म और समुदाय के लोग कार्यरत हैं।सफाई कार्य को सर्वाधिक जनसंख्या बल के साथ कराया जा रहा है।

देश में बढ़ती बीमारियों के प्रकोप के चलते सफाई कार्य होना अति आवश्यक हो गया है।फ़िर भी सरकारों नें इस सफ़ाई के

कार्य को असंगठित क्षेत्र की श्रेणी में रखा है। जिसको आज तक किसी सरकार ने संगठित करने की कोशिश नहीं

की है। सफाई कर्मियों के मामले को लेकर सरकार पूरी तरह उदासीन बनी हुई है।जिसके कारण असंगठित क्षेत्र में

काम करने वाले सफ़ाई श्रमिकों में से अधिकांश को न तो सरकारों की ओर से तय न्यूनतम वेतन मिलता है और न ही

पेंशन या स्वास्थ्य बीमा जैसी कोई सामाजिक सुरक्षा इन्हें मिल पाती है। उन्हें चिकित्सा, देखभाल, दुर्घटना, मुआवजा,

वेतन सहित अवकाश और पेंशन योजनाओं का लाभ भी नहीं मिल पाता। ऐसी स्थिति में सरकार को सफाई के इस

असंगठित क्षेत्र के कामगारों के लिये समग्र नीति बनानी चाहिये और अर्थव्यवस्था में उनके योगदान को स्वीकार

करते हुए व्यवस्था में उचित भागीदारी देनी चाहिये। सरकार को विशेष रूप से घरेलू नौकरों, मंडियों में काम

करने वाले सफाईकर्मियों पर ध्यान देना चाहिये। असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले सफाईकर्मियों को नीति निर्माण में

भागीदारी देनी चाहिये साथ ही देशवासियों को साफ सफ़ाई के द्वारा स्वस्थ्य रखनें एवं बीमारियों से निजात

दिलाने की उनकी हिस्सेदारी को देखते हुए सामाजिक सुरक्षा उपलब्ध करानी चाहिये।मिशन आशा गठबन्धन नें

14 जून को प्रथम माँग पत्र भारत के सभी जिलों के जिलाधिकारियों के माध्यम से मा. प्रधानमन्त्री जी,

महामहिम राष्ट्रपति जी, व सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को भेजा । फ़िर यही मांगपत्र 14 जुलाई को सभी राज्यों से

राज्य के मुख्यमंत्रियों के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति महोदय व मा. प्रधानमंत्री जी भारत सरकार को भेजा गया

जो आज तक निरन्तर सम्बंधित लोगों द्वारा सम्बंधित को भेजा जा रहा है । इस माँग पत्र के माध्यम से ये भी निवेदन

दर्ज है कि यदि  01 अगस्त तक माँग पूरी ना हुयीं तो 14 अगस्त से सफाई के काम की सम्पूर्ण भारत में हड़ताल कर जंतरमंतर पर धरना दिया जायेगा ।

हमारी प्रमुख माँग हैं :-

01 – हमारी प्रमुख माँग, सफाई कार्य को संवेधानिक तरीके से सफाई के कार्य को केन्द्रीयकरण कर केन्द्रीय कर्मचारियों का दर्ज़ा प्रदान किया जाय

02 – सफाई के कार्य में लगें वर्तमान सफाई कार्य में लगें संविदा, ठेकेदारी, आउटसोर्सिग में लगें सफाई कर्मचारियों को नियमित कर, सफाई के कार्य से संविदा ठेकेदारी, आउटसोर्सिग को को सदा के लियें बन्द कर दे

03 – सफाई कार्य में लगें लोगो को फौज की तरह केंद्रीय नेत्रत्व प्रदान कर केन्द्रीय संचालन किया जाये

04 – सफाई कर्मचारियों की भर्ती के लियें केद्रीय सफाई कर्मी भर्ती बोर्ड की स्थापना की जाये

05 – सफाई कर्मचारियों की आवाज़ लोकसभा राज्यसभा विधानसभा में उठाने के लियें सफाई मंत्रालय बनाया जाय

06 – सरकारी विभागों में सफाई के कार्य को नियमित कर्मचारियों से हीं लिया जाय

07 –  सफाई कार्य में लगें सफाई कर्मचारियों को सरकारी चिकित्सा योजना स्कीम लागू की जायें साथ हीं सफाई कर्मचारियों के लियें अस्पताल खोले जायें जहाँ इनकों औऱ इनके आश्रितों को चिकित्सा सुविधा मिल सके ।

सीवर सफाई एवं अन्य सफाई कार्य करते समय हो रही मौतो को रोकने तथा सफाई कर्मचारियो की 14 सूत्रीय

मांगो को लेकर विभिन्न संगठनो द्वारा 14 जून को सभी जिलाधिकारियो को 14 सूत्री मांगपत्र दिया जा चुका है ।

केन्द्र सरकार ने इन मांगपत्रो पर 1अगस्त 2019 तक मागे पूरी कर नियामानुसार कार्यवाही नही की तो 14 अगस्त

2019 से पूरे भारत के संवेधानिक / सरकारी, पंचायत व नगर निगम नगर पालिका नगर निकाय शहरी व ग्रामीण व

निजी व प्राईवेट सभी सफाई कर्मचारी अनिश्चित काल काम बन्द हड़ताल पर चले जायेगे और सभी मांगे पूरी न होने तक काम बन्द हड़ताल पर रहेगे ।

इस हड़ताल को टालने रोकने कुचलने व बांधा और अड़चन डालने का कार्य  सरकार व सरकारों के समर्थक/

झाडू विरोधी हर प्रकार की कोशिश कर सकती है सभी को हिम्मत से सतकॅ रहना है की अपील की जा चुकी है ।  इस

हड़ताल में भारत के स्वच्छकार /वाल्मीकि समाज के सभी नगर निगम व सामाजिक संगठनो को एकता से संगठित

होकर मिलजुलकर निस्वार्थ रूप से तन मन धन से सहयोग व समर्थन और साथ-साथ,  ये मांगपत्र व्यक्तिगत,

संस्थानिक, कर्मचारियों यूनियन, सामाजिक, सफाई कार्य में लगें सभी जाति धर्म वर्ग के लोग अपनी अपनी धार्मिक

संगठनो के माध्यम से भी भेज रहें हैं । माफ़ करना ( गटर में मरने वालों औऱ मरवाने वालों )सफाई कर्मचारियों की

मौतों पर सरकारें भी कुछ दिन तो विलाप करतें हैं  फ़िर भूल जातें हैं औऱ इंतिजार करनें लगतें हैं नई मौत का ?

आखिर कब तक मौतों का सिलसिला जारी रखोगे, मानव को मानव समझिये, बंधुआ मजदूर नहीं ।

जिस दिन से ये मांगपत्र संवैधानिक पदों पर विराजमान भाग्यविधाताओं के पास भेजा  गया है या सोशल मीडिया

पर प्रचार- प्रसार किया है उस दिन से पूरे देश में एक विशेष क्रान्तिकारी परिवर्तन देखनें को मिल रहा है । इस

मांगपत्र के आने के बाद हर व्यक्ति औऱ सामाजिक, कर्मचारी यूनियनों में एक विशेष बदलाव देखनें को मिल

रहा है । ये मिशन आशा गठबन्धन का 14 सूत्री मांगपत्र नें लोगों की कार्यशैली को बदलने का काम कर रहा है ।

सरकारों औऱ सांसद विधायकों को सदन में बोलने के लियें मज़बूर किया है अभी हालिया सदन में मा. रवि प्रकाश

वर्मा जी ( राज्यसभा सांसद समाजवादी पार्टी ),मा. मनोज झा जी ( राज्यसभा सांसद RJD ), मा. सीता रमन जी (

वित्त मंत्री भारत सरकार ), मा. प्रधानमंत्री जी (भारत सरकार ), मा. हंसराज हंस जी ( संसद BJP एवं सफ़ाई

आयोग के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ),  सम्पर्क कार्यक्रम में मा. राखी बिड़ला जी ( डिप्टी स्पीकर दिल्ली सरकार ) एवं मा.

संजय सिंह जी से ( राज्यसभा सांसद आम आदमी पार्टी ), को मांगपत्र दिया गया । व शीर्ष गणमान्य पूर्व औऱ वर्तमान

सांसद विधायक एवं आयोगों के सदस्य एवं व्याक्तियों से फोन पर वार्ता कर ईमेल के माध्यम से भी भेजा गया ।

दिल्ली से बी एस बिड़ला जी, मा.बाल किशन माहार जी, मा. बाबूलाल जी, लखनऊ से मा. आर सी वाल्मीकि जी,

आदरणीय प्रेमप्रकाश जी औऱ देश के कोने कोने से मिल रहें सहयोग से स्पष्ट है की सफ़ाई के काम में एक अनूठा

रिवोल्यूशन आ रहा है या आने बाला है । आने बाला सफ़ाई कामगार का भविष्य कैसा हो इस पर दुनियाँ के

लोग चिन्तन मनन करनें लगें हैं । सफ़ाई के काम में परिवर्तन के योग में जो लोग आज साथ नहीं है या पूरे मन

से नहीं है, वें इस चमत्कारी परिवर्तनकारी दौर का हिस्सा बनने से खुद को रोक नहीं पायेंगे ऐसा हमें विश्वास है ।

देश बहुत बड़ा है सहयोगी लोगों का संख्याबल भी ज्यादा है औऱ मिशन भी बड़ा है । इस छोटे से 14 सूत्री मांगपत्र नें

जिस प्रकार सम्पूर्ण भारत के लोगों नें हाथों हाथ लिया इससे प्रतीत होता है कि सफाई कार्य में लगें लोगों की

समस्या काफी विकराल है ऐसा लगता है जैसे अपनी समस्याओं से निजात पाने के लियें इसी प्रकार के माँग पत्र का इंतिज़ार  हो ।

रिपोर्ट संवाददाता टाइगर पूरी नेटवर्क बरेली

हेलो गाइस टाइगर पोस्ट न्यूज़ नेटवर्क सदैव आप के लिए नवीनतम एवं उच्च क्वालिटी की खबरें व जानकारी उपलब्ध कराने के लिए वचनबद्ध है। हमारे चैनल द्वारा कोई ऐसी खबरों को बिल्कुल प्रसारित नहीं किया जाएगा जो सांप्रदायिकता व असामाजिक तत्वों को बढ़ावा देती है।टाइगर पोस्ट न्यूज नेटवर्क परिवार आप से आशा करता हैकि आप बेहतरीन, नवीनतम उच्च क्वालिटी की खबरें और जानकारी के लिए हमारे चैनल को सब्सक्राइब करें। सुशील बाबू सागर चीफ इन एडिटर टाइगर पोस्ट न्यूज़ रूम नंबर 1,बी 46, सेक्टर 63 नोएडा गौतम बुद्ब नगर उत्तर प्रदेश भारत। 201301 Tiger Post News Owner:Susheel Babu Sagar info@tigerpostnews.com sachinsagarsachin09@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>